Off Page SEO कैसे करते हैं ? वेबसाइट On Page SEO की पूरी जानकारी

Off Page SEO कैसे करते हैं ? वेबसाइट On Page SEO की पूरी जानकारी

 

Off Page SEO Specially Use में तब लिया जाता  है जब हमें अपने Website और Articles के Links को Google Search में Rank करवाना होता है Off Page SEO में वैसे देखा जाये तो बहोत सारे Bloggers नए नए Techniques लाते  रहते है ताकि उनके Website के Links  जल्द से जल्द Google में Rank कर सकें 

 

पर खास तौर पर Off Page SEO में Bloggers के द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले Techniques है Link Building, Social Bookmarking, Web 2.0 Blogs, Directory Submission, etc. Basically, Off-Page SEO Website को  Search Engine में Ranking के लिए Backbone है आप Off-Page SEO के जरिये किसी भी website और उसके Links को Search engine में Rank करवा सकते है

 

Off-Page SEO कैसे करे की जानकारी 

Off-Page SEO कैसे करे ? ये सबसे बड़ा सवाल है क्यों की किसी भी New & Old Blogger के लिए Website का Off-Page SEO करना थोड़ा Hard होता है क्यों की इसे खुद की Website पर नहीं बल्कि  दूसरों की Website पर किया जाता है  Off-Site SEO के Techniques को execute करने के लिए एक Proper Plan से होकर गुजरना होता है 

 

On-Page SEO techniques

क्यों की Internet पर बहोत से Pro SEO experts है जिन्हे हमें Face करना होता है उसके लिए हमारे Website, Content, Ideas, और हमारी Techniques की किस तरह हम अपनी Website का Off-Page SEO Build करते है इन सब पर Depend करता है 

 

Link Building

Off Page SEO कैसे करते हैं ? वेबसाइट On Page SEO की पूरी जानकारी

 

LinkBuilding में हम सब जानते है हम हमारे Website को और हमारे Website पैर Published Articles को Search Engine में Rank करवाने के लिए Links को Create करते है अलग अलग Platforms से ताकि हमारे Articles जो है Search Engine में rank कर सके Link Building में Create किये गए Links को हम Backlinks कहते है

 

Backlinks – Backlinks यानि किसी और के Web Page से हमारे Web page को जोड़ने वाली एक Tunnel होती है जहाँ से Search engine और Webmasters के Crawlers हमारे Website के pages तक पोहच सकते है दरअसल  Backlinks 2 प्रकार के होते है एक Do -Follow Backlinks और दूसरी No-Follow बैकलिंक्स, तो आइये जानते है इनके बारे में

 

Do-Follow Aur No-Follow Backlinks दिखने में same होते है बस Do-follow Backlinks हमें और Bot’s दोनों के लिए visible होते है इनको Crawlers Read & Index कर सकते है तो No-Follow Backlinks सिर्फ Humans के लिए Visible होते है इन्हे Crawlers Read & Index नहीं कर सकते

 

Do-Follow Backlinks

Do-Follow Backlinks हम उन Links को कहते है जिन्हे User के साथ साथ Search Engine के Search Console के Crawlers Read करने के साथ ही Index भी कर सकते है Do-Follow Backlinks Create करने से हमारे Website के Links के लिए Link Juice Create होता है जो हमारे Website के links को Search Engine में rank करवाने के लिए बहोत ज्यादा महत्वपूर्ण होता है

 

Do-Follow Backlinks के creation से जो Link Juice Create होता है वो एक Positive Referral का काम करता है हमारे Website के links के लिए जितने ज्यादा Positive Referrals (Do-Follow Backlinks) होंगे उतनी अछि हमारी Search Engine के SERP में Ranking होगी

 

Do-Follow Backlinks कैसे बनाये ?

Guest Posting, Jurnal, Approaching Different Websites Admin, Creating Do-follow Blogs, Commenting On Do-Follow Websites, Forum Postings, Attending Online Q&N Sessions और भी बहोत सारे रस्ते है Do-Follow Backlinks Create करने के लिए

Ex– <a href=’www.your-web-site-.com/’ rel=’dofollow’> your Diseird Keyword </a>

<a href=’www.your-web-site-.com/’> your Diseird Keyword </a>

 

No-Follow Backlinks

No-Follow Backlinks हम उन सभी Links को कहते है जिनको Search Console के Crawlers Read और Index नहीं कर सकते जिसका मतलब है की No-Follow Backlinks से कोई Link Juice Pass नहीं होता इन्हे सिर्फ Users ही Read कर सकते है और इनपर Click करते हुए उस Link के Connecting Page पर पोहच सकते है

 

No-Follow Backlinks ज्यादातर referral Traffic Gain करने के लिए DA Increase करने के लिए साथ ही Social Bonding बढ़ाने के लिए इस्तेमाल में लिए जाते है

 

No-Follow Backlinks कैसे बनाये ?

No-Follow Backlinks Commenting, Bookmarking, Internal Linking, और कभी कभी Directory Submission के जरिये भी No-Follow Links बनाये हैं

 

ex <a href=’www.your-web-site-.com/’ rel=’nofollow’> your Diseird Keyword </a>

Rel=’nofollow’ का मतलब हे की  crawlers इस tag के किसी भी link को index, read और Follow नहीं कर सकते

Social Sharing

1

 

Social Sharing करने से Social Signals Boost होते है Social Signals आपके Web-page के Total number of Shares को refer करते है जिससे आपके Links की Google में Ranking Increase होने के Chances बढ़ जाते है आप लोग Social Sharing करने के लिए Facebook, Twitter, Linkedin, etc. जैसे Social media Platforms का इस्तेमाल कर सकते है

 

Solved Data-Vocabulary Breadcrumb Error

जब आपके ब्लॉग पर आने वाले Users आपके Blog-Post को उनके Social Profile पर Share करते है तो Sharing के Numbers बढ़ जाते जिसके साथ Social Signals भी बढ़ जाते है सो ये आपके Blog post के Ranking के लिए बहोत ज्यादा Benifit देता है तो आपको अपने Blog Post के Conclusion में Users को Prerit करना होता है जिससे की वो आपको पोस्ट को Share करे

 

Social Bookmarking

Social Bookmarking के लिए आम तौर पर हम सभी , Pinterest, mix, Dribble, Pocket, Digg और Slashdot जैसे Social Bookmarking Website का सहारा लेते है वैसे देखा जाये तो Social Bookmarking भी Social Sharing का ही एक हिस्सा है But फ़र्क़ सिर्फ इतना है की यहाँ पर आप अपनी Website के Pages के links को आप Bookmark करके रख सकते है ताकि User जब भी चाहे उस BookMark की गई link के through आपके Web-Page पर Land कर आपका Content पढ़ सकता है

 

SEO क्या है ?

न सिर्फ Social Bookmarking के through आपके Website की Unique Traffic Increase होती है Social Signals भी Create होते रहते है जब भी कोई उस Link से आपके Website पर आता है Social Bookmarking से आपके Website के लिए No-Follow Backlinks भी Create होते है साथ ही ये आपके Off-Page SEO और Search engine Ranking को भी Boost करने में Help करता है

 

On-Page SEO कैसे करे

Web 2.0

Web 2.0 में Social Networking site, Social Bookmarking Sites, Wikki Sites, Blog Hosting Sites, Video Sharing, Image Sharing, Gif File Sharing, आदि शामिल होते है Web 2.0 आपके Website के Web-pages ko Refer करता है 

 

Off-Page SEO में Web 2.0 Technique का इस्तेमाल करने के लिए आप फ्री Blog hosting Sites पर One Page की Blog Website Create कर उसे अपने Content के साथ Link कर सकते है साथ ही अपने Media Files और Links को Socially Share करके भी आप Web 2.0 Signals Generate कर सकते है जो की आपके Website की Ranking के लिए जरुरी होते है Wikipedia पर Content pages Create कर सकते है 

 

Directory Submission

Directory Submission हमारे Website के शुरूआती  दिनों में किया जाता  है हालांकी आप इसे बाद में भी कर सकते हो But जब हम कोई Website Create करते है तब हमारे Website का न तो कोई नाम होता है न हीं पहचान हमारे Website पर Organic Traffic भी बहोत न के बराबर होता है जितना भी traffic हमारी Website पर आता है वो सब Social Sites से आता है या फिर Whats app जैसे Platforms से

 

Technical SEO कैसे करे

हमारी Website की Internet को पहचान करवाने का जरिया और थोड़ी बहोत Do-Follow Backlinks Creation का भी रास्ता है Directory Submission. Directory Submission को ही हम Link Submission भी कहते है

usjoub
Lilink
Finance Buster
UsaDirectory
allfreethings
somuch
highrankdirectory
Britain Business Directory

आप लोग इन Websites और इनके अलावा बाकि सभी Directory Submission Websites का इस्तेमाल कर सकते है अपनी Website के Submission के लिए

Off-Page SEO एक बेहतर रास्ता है अपने Website के Links के लिए Link juice Create करने का जिससे की हमारे Website का DA, PA, PR भी Increase हो और हमारी Website पर Organic traffic भी आये

 

Blogger Post में search description enable कैसे करे? 2020

Categories Seo
1

मेरा नाम शरीफ़ अहमद कादरी हे में एक Youtuber भी हूँ और ब्लॉगर भी हूँ ,इस वेबसाइट पे आपको Technology से जुडी हर तरह की जानकारी मिलती हे अगर आप ब्लॉग्गिंग सीखना चाहते हैं या youtube channel बनाकर पैसा कमाना चाहते हैं या Affilate Marketing करना चाहते हैं या technology से जुडी कोई भी जानकारी लेना या सीखना चाहते हैं तो इस वेबसाइट पर आपको वो सब कुछ सीखने को मिलेगा जो भी आप सीखना चाहते हैं!

Leave a Reply

%d bloggers like this: