Television Ka Avishkar Kisne Kiya Or Kab? पूरी जानकरी हिंदी में

Television Ka Avishkar Kisne Kiya Or Kab पूरी जानकरी हिंदी में

 

 

Television Ka Avishkar Kisne Kiya-दोस्तों जबसे इंटरनेट और स्मार्ट फोन सस्ते हुए हैं तब से टेलीविजन का उपायों बहुत कम हो गया है !क्योंकि अगर आपको कोई फ़िल्म देखनी है तो वो फ़िल्म टेलीविजन से पहले आपको इंटरनेट पे मिल जाती है ! इसके अलावा जैसा कि पहले tv सीरियल देखे जाते थे ठीक उसी प्रकार अब वेब सीरीज को ज़्यादा पसंद किया जाने लगा है !

 

यहीं कारण है कि आज टेलीविजन की लोकप्रियता पहले जैसी नहीं रह गयी है ! लेकिन अब टेलीविजन भी पहले से स्मार्ट हो चुका है ! आज की तारीख में हम अपने टेलिविज़न पर यूट्यूब नेटफ्लिक्स प्लेस्टोर सभी का इस्तेमाल कर सकते हैं !

 

लेकिन क्या आपको पता है कि Television Ka Avishkar Kisne Kiya ? अगर नहीं तो इस पोस्ट को पूरा ज़रूर पढियेगा !

 

टेलिविजन क्या है ?

 

नॉर्मली हम टेलीविजन को एक ऐसे उपकरण के तौर पे जानते हैं ! जिसमे हम कई सारे चैनलों पर अपने पसंद के नाटक,फिल्में,खबरें ओर भी काफी चीज़ें देख सकते हैं !

 

टेलीविजन को मनोरंजन सामग्री खबरें खेल और विज्ञापन को लोगों तक पहुंचाने के लिए किया जाता है !

 

 

जब टेलीविजन का अविष्कार हुआ था तब ये कयास लगाये जाने लगे की अब सिनेमा बंद हो जाएगा ! लेकिन आपको पता है कि ऐसा कुछ नहीं हुआ ! आज भी सिनेमा कितनी कमाई करते है आप सबको पता है ! लेकिन ये भी सच है कि टेलीविजन के आने से घर घर तक सिनेमा पहुंच गया !

 

टेलीविजन पे आपको बहुत सारे चैनल मिल जाते हैं ! जिन पे आप अपने पसंद की कोई भी नई या पुरानी फ़िल्म देख सकते है ! घर बैठे सभी खबरों से जुड़े रह सकते हैं !

 

Television Ka Avishkar Kisne Kiya?

Television Ka Avishkar Philo Taylor Farnsworth द्वतीय ने किया था !

आपको पता है कि पहले सिर्फ ब्लैक एंड व्हाइट tv आते थे ! उसके बाद बड़ा सा डब्बा हमे मिला जो कि था तो कलर लेकिन उसकी उसकी क्वालिटी उतनी अच्छी नहीं थी जो कि हमे आज देखने को मिलती है ! इसके बाद LCD ओर LED आयी जिसमे ओर अच्छी क्वालिटी प्रदान की गई !

 

लेकिन आज हमारे सामने जो टी वी है इसके अविष्कार का श्रेय किसी एक व्यक्ति को नहीं दिया जा सकता ! इसके अविष्कार में काफी सारे वैज्ञानिकों का महत्व और अनुदान है ! किसी ने सिर्फ थ्योरी दी तो किसी ने उस थ्योरी पे प्रेक्टिस किया ! सभी लोगों के प्रयास के बाद ही टेलीविजन का अविष्कार संभव हो पाया !

 

अगर आप गूगल पे सर्च करते हैं कि Television Ka Avishkar Kisne Kiya ? तो आपको एक नहीं बल्कि तीन नाम देखने को मिलेंगे ! जैसे Philo Farnsworth, John Logie Baired एवं Charles Francis jenkins !

 

वेसे तो टेलीविजन के आविष्कार में कई वैज्ञानिकों का सहयोग है ! लेकिन इसका आविष्कारक Philo Taylor Farnsworth ।। को माना जाता है ! उन्होंने सिर्फ 21 वर्ष की आयु में टेलीविजन का अविष्कार किया था जो कि एक बहुत बड़ी उपलब्धि है !

 

Television Ka Avishkar Kab Hua

जब रेडियो का अविष्कार हुआ था तभी से वैज्ञानिकों ने ये कल्पना करना शुरू कर दिया था कि कोई ऐसा यंत्र बनाया जाए जिसमे हिलती डुलती तस्वीरों को दिखाना संभव हो सके ! जिस से की अलग अलग तस्वीरों के माध्यम से चलती फिरती वीडियो बनाई जा सके !

 

बस इसी कल्पना के सहारे सिनेमा का अविष्कार हुआ ! और लोगों को इस तकनीक का फायदा मिला !

 

दुनिया के सबसे पहले मेकैनिकल टेलीविजन का अविष्कार john logie baird ने सन 25 मार्च 1925 को किया ! इसके बाद फर्नवर्थ ने 7 सितंबर1927 में इलेक्ट्रॉनिक टेलीविजन का अविष्कार किया !

 

टेलिविजन को हिंदी में क्या कहते हैं?

ये नाम से आप सब परिचित हैं जी हां दोस्तों क्योंकि इसे हिंदी में दूरदर्शन कहा जाता है ! क्योंकि ये दूर होने वाली घटनाओं या क्रयाओं को आपको पास में दिखता है ! क्योंकि ये सिर्फ कुछ तस्वीरें होती हैं जो कि टेलीविजन के माध्यम से इतनी तेजी से परिवर्तित होती हैं कि वो हमें एक चलेते फिरते वीडियो की शक्ल में दिखाई देती हैं !

 

तो दोस्तों उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट Television Ka Avishkar Kisne Kiya ? अच्छी लगी होगी ! तो अगर आपको ये जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजियेगा ! ओर अगर आपको इस लेख से संबंधित कोई प्रश्न है तो आप नीचे कमेंट करके हमसे पूँछ सकते हैं !

मेरा नाम शरीफ़ अहमद कादरी हे में एक Youtuber भी हूँ और ब्लॉगर भी हूँ ,इस वेबसाइट पे आपको Technology से जुडी हर तरह की जानकारी मिलती हे अगर आप ब्लॉग्गिंग सीखना चाहते हैं या youtube channel बनाकर पैसा कमाना चाहते हैं या Affilate Marketing करना चाहते हैं या technology से जुडी कोई भी जानकारी लेना या सीखना चाहते हैं तो इस वेबसाइट पर आपको वो सब कुछ सीखने को मिलेगा जो भी आप सीखना चाहते हैं!

Leave a Reply