Blue Aadhar Card Kya Hai ?

Blue Aadhar Card Kya Hai 

दोस्तों आज हम बात करेंगे की Blue Aadhar Card Kya Hai ? क्योंकि भारत में आधार कार्ड पहचान के महत्वपूर्ण दस्तावेजों में से एक माना गया है ! आज के समय की बात करें तो आधार की वजह से ही सरकारी सुविधाओं का लाभ लेना बहुत आसान हो गया है ! Aadhar के बारह अंकों वाले यूनीक कोड के जरिए बैंकिंग से लेकर सभी सरकारी दस्तावेजों को एक तार से जोड़ना मुनासिब हो सका है !

आधार के माध्यम से किसी भी व्यक्ति का पूरा नाम, पता और जन्मतिथि भी पता लगाना आसान हो गया है ! Aadhar को कई क्षेत्रों में पहचान पत्र के तौर पर भी उपयोग करने के लिए एक महत्वपूर्ण दस्तावेज माना गया है ! लेकिन इसके अतिरिक्त ये Blue Aadhar Card क्या है ? और किनके लिए है और कौन से दस्तावेज जरूरी है ? ये नीला आधार कार्ड बनवाने के लिए वो कुछ स्टेप्स जिनसे उस आयु वर्ग के लोगों को पहचान मिलेगी ! यही आज आपको हम बताएंगे !

 

Blue Aadhar Card Kya Hai ?

आधार कार्ड दो तरह के होते हैं, एक वयस्कों के लिए और दूसरा बच्चों के लिए ! जिसे बाल आधार कहा जाता है ! अब माता पिता नवजात के लिए भी बाल आधार के लिए आवेदन कर सकते हैं ! और बाल आधार कार्ड को ही Blue Aadhar Card  के तौर पर जाना गया है !

 

अब सवाल है कि आखिर कैसे बनवाए ये नीला आधार कार्ड ? और क्या है वो जरूरी स्टेप्स ? चलिए इस पर भी एक नजर डाल लेते हैं ! सबसे पहले पास के आधार कार्ड नामांकन केंद्र पर जाये ! लेकिन उससे पहले आप बच्चे के पते के प्रमाण और जन्म प्रमाणपत्र जैसे जरूरी दस्तावेज गैदर करें ! फिर आधार कार्ड नामांकन केंद्र के लिए ऑनलाइन बुकिंग करे ! या फिर आप सीधे भी वहाँ जा सकते हैं ,नामांकन फार्म भरें और इसके साथ सभी दस्तावेज अटैच करें !

 

Blue Aadhar Card कैसे बनवाएं ?

माता पिता को अपने आधार की जानकारी खुद देनी होगी ! बच्चे के आधार को उसके माता पिता के आधार कार्ड नंबर से जोड़ा जाएगा ! blue aadhar card  के लिए रजिस्ट्रेशन कराने को लेकर एक मोबाइल नंबर भी आपको प्रोवाइड करना होगा ! उसके बाद नामांकन केंद्र पर बच्चे की एक फोटो क्लिक की जाएगी ! नामांकन सेंटर पर सभी दस्तावेजों का सत्यापन होगा !

यानी उनको चेक किया जाएगा और इनकी जांच के बाद ही Blue Aadhar Card इश्यू हो जाएगा ! यूआइडीएआइ के अनुसार नीले आधार कार्ड के तहत पांच साल से कम उम्र के बच्चों का नामांकन किया जाता है ! जिसके लिए बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र और माता पिता में से किसी एक का आधार कार्ड नंबर जरूरी है ! कोई भी पैरेंट वैलिड डॉक्यूमेंट देकर अपने बच्चों का आधार कार्ड बनवा सकते हैं !

 

Blue Aadhar Card Update

यूआईडीएआई की तरफ से जारी आधार कार्ड का रंग बड़ों के लिए अलग और बच्चों के लिए अलग होता है ! इसे पांच साल बाद अपडेट कराना अनिवार्य है या आधार कार्ड अपने आप ही पांच साल बाद इनवैलिड हो जाता है ! कोई भी भारत का नागरिक हो अगर अपने बच्चों के लिए आधार कार्ड बनवाना चाहते हैं ! तो यूआइडीएआइ के वैलिड सेंटर्स पर दस्तावेजों के साथ आवेदन कर सकते हैं !

 

जानकारी जो हैं उसके अनुसार पांच साल से पहले के बच्चों के लिए बायोमैट्रिक्स विकसित नहीं किया गया है ! इसलिए बच्चे के Blue Aadhar Card डेटा में फिंगर प्रिंट और आइरिस स्कैन जैसी बायोमीट्रिक जानकारी शामिल नहीं होती है ! यूआइडीएआइ के अधिकारी के अनुसार बच्चे के पांच साल की उम्र पार करने के बाद बायोमैट्रिक्स को अपडेट किया जाना चाहिए ! 

 

तो ये सारी जानकारी है Blue Aadhar Card  को लेकर ! कैसी लगी आपको ये जानकारी जरूर बताएगा !

मेरा नाम शरीफ़ अहमद कादरी हे में एक Youtuber भी हूँ और ब्लॉगर भी हूँ ,इस वेबसाइट पे आपको Technology से जुडी हर तरह की जानकारी मिलती हे अगर आप ब्लॉग्गिंग सीखना चाहते हैं या youtube channel बनाकर पैसा कमाना चाहते हैं या Affilate Marketing करना चाहते हैं या technology से जुडी कोई भी जानकारी लेना या सीखना चाहते हैं तो इस वेबसाइट पर आपको वो सब कुछ सीखने को मिलेगा जो भी आप सीखना चाहते हैं!

Leave a Reply