Blue Aadhar Card Kya Hai ?

Blue Aadhar Card Kya Hai 

दोस्तों आज हम बात करेंगे की Blue Aadhar Card Kya Hai ? क्योंकि भारत में आधार कार्ड पहचान के महत्वपूर्ण दस्तावेजों में से एक माना गया है ! आज के समय की बात करें तो आधार की वजह से ही सरकारी सुविधाओं का लाभ लेना बहुत आसान हो गया है ! Aadhar के बारह अंकों वाले यूनीक कोड के जरिए बैंकिंग से लेकर सभी सरकारी दस्तावेजों को एक तार से जोड़ना मुनासिब हो सका है !

आधार के माध्यम से किसी भी व्यक्ति का पूरा नाम, पता और जन्मतिथि भी पता लगाना आसान हो गया है ! Aadhar को कई क्षेत्रों में पहचान पत्र के तौर पर भी उपयोग करने के लिए एक महत्वपूर्ण दस्तावेज माना गया है ! लेकिन इसके अतिरिक्त ये Blue Aadhar Card क्या है ? और किनके लिए है और कौन से दस्तावेज जरूरी है ? ये नीला आधार कार्ड बनवाने के लिए वो कुछ स्टेप्स जिनसे उस आयु वर्ग के लोगों को पहचान मिलेगी ! यही आज आपको हम बताएंगे !

 

Blue Aadhar Card Kya Hai ?

आधार कार्ड दो तरह के होते हैं, एक वयस्कों के लिए और दूसरा बच्चों के लिए ! जिसे बाल आधार कहा जाता है ! अब माता पिता नवजात के लिए भी बाल आधार के लिए आवेदन कर सकते हैं ! और बाल आधार कार्ड को ही Blue Aadhar Card  के तौर पर जाना गया है !

 

अब सवाल है कि आखिर कैसे बनवाए ये नीला आधार कार्ड ? और क्या है वो जरूरी स्टेप्स ? चलिए इस पर भी एक नजर डाल लेते हैं ! सबसे पहले पास के आधार कार्ड नामांकन केंद्र पर जाये ! लेकिन उससे पहले आप बच्चे के पते के प्रमाण और जन्म प्रमाणपत्र जैसे जरूरी दस्तावेज गैदर करें ! फिर आधार कार्ड नामांकन केंद्र के लिए ऑनलाइन बुकिंग करे ! या फिर आप सीधे भी वहाँ जा सकते हैं ,नामांकन फार्म भरें और इसके साथ सभी दस्तावेज अटैच करें !

 

Blue Aadhar Card कैसे बनवाएं ?

माता पिता को अपने आधार की जानकारी खुद देनी होगी ! बच्चे के आधार को उसके माता पिता के आधार कार्ड नंबर से जोड़ा जाएगा ! blue aadhar card  के लिए रजिस्ट्रेशन कराने को लेकर एक मोबाइल नंबर भी आपको प्रोवाइड करना होगा ! उसके बाद नामांकन केंद्र पर बच्चे की एक फोटो क्लिक की जाएगी ! नामांकन सेंटर पर सभी दस्तावेजों का सत्यापन होगा !

यानी उनको चेक किया जाएगा और इनकी जांच के बाद ही Blue Aadhar Card इश्यू हो जाएगा ! यूआइडीएआइ के अनुसार नीले आधार कार्ड के तहत पांच साल से कम उम्र के बच्चों का नामांकन किया जाता है ! जिसके लिए बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र और माता पिता में से किसी एक का आधार कार्ड नंबर जरूरी है ! कोई भी पैरेंट वैलिड डॉक्यूमेंट देकर अपने बच्चों का आधार कार्ड बनवा सकते हैं !

 

Blue Aadhar Card Update

यूआईडीएआई की तरफ से जारी आधार कार्ड का रंग बड़ों के लिए अलग और बच्चों के लिए अलग होता है ! इसे पांच साल बाद अपडेट कराना अनिवार्य है या आधार कार्ड अपने आप ही पांच साल बाद इनवैलिड हो जाता है ! कोई भी भारत का नागरिक हो अगर अपने बच्चों के लिए आधार कार्ड बनवाना चाहते हैं ! तो यूआइडीएआइ के वैलिड सेंटर्स पर दस्तावेजों के साथ आवेदन कर सकते हैं !

 

जानकारी जो हैं उसके अनुसार पांच साल से पहले के बच्चों के लिए बायोमैट्रिक्स विकसित नहीं किया गया है ! इसलिए बच्चे के Blue Aadhar Card डेटा में फिंगर प्रिंट और आइरिस स्कैन जैसी बायोमीट्रिक जानकारी शामिल नहीं होती है ! यूआइडीएआइ के अधिकारी के अनुसार बच्चे के पांच साल की उम्र पार करने के बाद बायोमैट्रिक्स को अपडेट किया जाना चाहिए ! 

 

तो ये सारी जानकारी है Blue Aadhar Card  को लेकर ! कैसी लगी आपको ये जानकारी जरूर बताएगा !

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now
Share your love

Leave a Reply